30.1 C
Ranchi
Monday, May 20, 2024

सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड में सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा के नतीजे पर रोक लगाई

झारखंड में सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा के नतीजे रोक लिए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को जजों जेके माहेश्वरी और संजय करोल की सुनवाई में झारखंड सरकार और जेएसएससी को कोर्ट की इजाज़त के बिना नतीजे जारी नहीं करने के आदेश दिए हैं। मामला अभी अदालत में विचाराधीन है, इसलिए बिना इजाज़त नतीजे जारी नहीं किए जा सकते।

अगली सुनवाई जुलाई के पहले हफ्ते में होगी। इस बीच, सहायक शिक्षक के लिए हिंदी की परीक्षा इस शनिवार से ही शुरू हो रही है।

जो उम्मीदवार जेईटीईटी परीक्षा पास कर चुके हैं, उन्होंने झारखंड हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती दी है। हाई कोर्ट ने दूसरे राज्यों के जेईटीईटी पास उम्मीदवारों को भी सहायक शिक्षक परीक्षा में शामिल करने का आदेश दिया था। याचियों के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में दलील दी कि जेईटीईटी पास उम्मीदवारों को संथाली और खोरठा जैसी क्षेत्रीय भाषाओं का ज्ञान है, क्योंकि उन्होंने इन भाषाओं में परीक्षा पास की है। जबकि सीटीईटी पास उम्मीदवारों को सिर्फ हिंदी या अंग्रेजी की जानकारी है।

अगर झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में जेईटीईटी के जरिए सहायक शिक्षकों की नियुक्ति की जाती है, तो उन्हें झारखंड की भाषा में बच्चों को पढ़ाने में मुश्किल होगी। इससे शिक्षा के अधिकार का भी उल्लंघन होगा। हाई कोर्ट के पास इस तरह के नीतिगत मामलों पर फैसला लेने का अधिकार नहीं है, ये अधिकार सिर्फ संसद के पास है।

हाई कोर्ट ने ये भी कहा था कि अगर जेईटीईटी पास उम्मीदवारों की नियुक्ति होती है, तो उन्हें अपनी पहली कोशिश में जेईटीईटी परीक्षा पास करनी होगी।

लेकिन, अगर झारखंड सरकार तीन साल तक जेईटीईटी परीक्षा नहीं कराती है, तो ये शर्त लागू नहीं होगी। ऐसे उम्मीदवारों को सहायक शिक्षक परीक्षा की तैयारी के लिए तीन महीने का समय दिया जाएगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles